Serey is utilizing Blockchain technology

यह प्रकृति पर निर्भर करता है। शुभ प्रभात

ahlawat

आपने भगवान को सबसे ज्यादा याद किया। फिर मैं सभी के लिए प्रार्थना करता हूं। आज एक प्यारा दिन है लेकिन शुरुआत कोहरा से हो रही है। फिर से ठंड महसूस हो रही है। मैं अपना जीवन एक उड़ने वाले पक्षी के साथ शुरू करता हूं। क्योंकि उसका कोई संबंध नहीं है। वह हमेशा अलग रहता है। और चारों आकाश की तरफ देखते हैं। और कहा जाता है कि आकाश आपकी ऊंचाई को पार नहीं कर सकता। उसे ईश्वर ने बनाया है। मैं भगवान की याद में रहता हूं। यही मेरे जीवन की पहचान है। मैंने चारों ओर देखा। कैसे लोग अपना जीवन बिता रहे हैं। यह उनकी मजबूरी है। या वे ऐसा ही करना चाहते हैं। 


![20210214_081538.jpg](https://cdn.steemitimages.com/DQmWUosqnJvCnoPvpbicynaFPY1rcEfdYnEjWprRYbKSbtA/20210214_081538.jpg)

मैं उठा। और मैं अपनी यात्रा पर जाने की तैयारी कर रहा हूं। लेकिन चारों तरफ से कोहरा है। हमारे सूरज के निकलने में समय लग सकता है। इसलिए मैं अपने समय का इंतजार नहीं करता। मैं आगे बढ़ रहा हूं। तब मैं कोहरा को रोक नहीं सकता। क्योंकि हमारे कदमों को प्राकृतिक पर को असर नही होता है। इसलिए मैं आगे बढ़ता रहता हूं। आसमान में सिर्फ कोहरा ही दिखाई दे रहा है। क्या आपने कभी सोचा है कि कोहरा कैसे उड़ता रहता है। वे हमारे तापमान पर निर्भर करते हैं। यह जल वाष्प बन जाता है। और फिर भाप एक कोहरे में बदल जाती है, पानी पेड़ों से टपकता है। 


हम अपने दिन की शुरुआत अपने दोस्तों के साथ करते हैं। दोस्त हमेशा अच्छा होता है लेकिन आजकल दोस्त भूलने लगे हैं। लेकिन दोस्त हमेशा अलग होते हैं। कोई दोस्त हमेशा सपोर्ट करता है। हमारी सफलता उन पर निर्भर करती है। इसलिए मैं प्रार्थना करता हूं कि जीवन मेरे दोस्त के लिए एक अनमोल खुशी रही है। आजकल हर कोई हर जगह कुछ न कुछ ढूंढना चाहता है। लेकिन आपके पास क्या है वह सबसे कीमती है। इसलिए, कहीं और न खोजें। अपनी जगह खोजते रहो। भगवान हमारे साथ हैं। इसे सिर्फ देखने की जरूरत नहीं है। इसलिए वह हमेशा हमें खुश रखता है। 

मुझे लगता है कि आप इस पोस्ट को पसंद करेंगे।
रविवार के मजे लो। सुबह की सूरज की पहली किरण दिल को छू जाती है।
आपका दिन शुभ हो।

0.000 SEREY
2 votes
1 downvote
Global
Global

Comments